Connect with us

उत्तराखंडः बर्फ में दबा मिला नौसेना के जवान का शव एक साल बाद मिला, परिजनों में मचा कोहराम…

उत्तराखंड

उत्तराखंडः बर्फ में दबा मिला नौसेना के जवान का शव एक साल बाद मिला, परिजनों में मचा कोहराम…

उत्तराखंड में उत्तरकाशी में द्रौपदी का डांडा-2 चोटी आरोहण के दौरान हिमस्खलन हादसे में बड़ा अपडेट आ रहा है। बताया जा रहा है कि इस हिमस्खलन में लापता निम के प्रशिक्षु पर्वतारोही का शव एक साल बाद बरामद हुआ है। अब हादसे में मृतकों की संख्या 28 हो गई है।  शव की पहचान नौसेना में नाविक विनय पंवार के रूप में हुई। वहीं बेटे को एक साल बाद तिरंगे में लिपटा देख परिजन बिलख पड़े। नम आंखों से जवान को अंतिम विदाई दी गई।

मिली जानकारी के अनुसार हिमस्खलन (एवलांच) की चपेट में आकर क्रेवास में दबे नेहरू पर्वतारोहण संस्थान (निम) के प्रशिक्षु पर्वतारोहियों में रायवाला के हरिपुरकलां निवासी विनय पंवार का शव द्रौपदी का डांडा क्षेत्र से बरामद हुआ है। भारतीय नौसेना में कार्यरत विनय का सपना एवरेस्ट पर चढ़ने का था। लेकिन नियती को कुछ और ही मंजूर था। विनय के परिजनों को निम की ओर से जब उनके शव मिलने की सूचना दी गई तो परिवार की उम्मीदें टूट गई। शव मिलने की सूचना के बाद से गांव का माहौल गमगीन है।

यह भी पढ़ें 👉  योग प्रशिक्षितों की नियुक्ति के लिए आवेदन प्रक्रिया जारी, इस दिन तक कर सकते हैं आवेदन…

बताया जा रहा है  कि शुक्रवार को भारतीय नौ सेना की टीम विनय के शव को लेकर उसके आवास पहुंची तो बेटे को तिरंगा में लिपटा देख परिजन बिलख पड़े। यहां पार्थिव शरीर को केवल दस मिनट के लिए रखा गया। इसके बाद खड़खड़ी शमशान घाट पर सैन्य सम्मान के साथ पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार किया गया। इससे पहले सेना के जवानों ने सलामी दी। वहीं बेटे की मौत से माता नारायणी का रो-रोकर बुरा हाल है। विनय के बड़े भाई दीपक और पिता राजेंद्र पंवार उनको संभाल रहे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  गौला नदी में नहा रहे दो मासूम डूबे, मौत से परिवार में पसरा मातम…

गौरतलब है कि नेहरू पर्वतारोहण संस्थान (निम) के इतिहास में चार अक्तूबर 2022 वह तारीख थी जिसने निम प्रबंधन को कभी न भूलने वाला गम दिया। इस दिन निम के 34 प्रशिक्षुओं का दल द्रौपदी का डांडा-2 चोटी आरोहण के दौरान हिमस्खलन की चपेट में आ गया था।जिसमें कुल 27 लोगों की मौत हो गई थी। जबकि उत्तराखंड निवासी नौसेना में नाविक विनय पंवार व हिमाचल निवासी लेफ्टिनेंट कर्नल दीपक वशिष्ट लापता चल रहे थे। अब विनय पंवार का शव एक साल बाद बर्फ में दबा मिला है।

यह भी पढ़ें 👉  प्रदेश के कई जिलों में बारिश-बिजली गिरने के आसार, 10 जिलों के लिए अलर्ट जारी…

Latest News -
Continue Reading
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in उत्तराखंड

उत्तराखंड

उत्तराखंड

ट्रेंडिंग खबरें

To Top