Connect with us

Google Pay, फोन पे, पेटीएम को लेकर बड़ा अपडेट, ये अकॉउंट 1 जनवरी से हो जाएंगे बंद, जानें क्यों…

उत्तराखंड

Google Pay, फोन पे, पेटीएम को लेकर बड़ा अपडेट, ये अकॉउंट 1 जनवरी से हो जाएंगे बंद, जानें क्यों…

अगर आप भी पेमेंट ऐप Google Pay, फोन पे, पेटीएम का इस्तेमाल करते हैं तो आपके लिए बड़ा अपडेट है। जिसे जानना आपके लिए जरुरी है। बताया जा रहा है कि 1 जनवरी, 2024 से कुछ लोग इसका इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। NPCI की ओर से इनएक्टिव यूपीआई नंबर्स और आईडी को बंद करने का आदेश दिया गया है। इसके बाद गूगल पे, पेटीएम और फोनपे जैसे थर्ड पार्टी यूपीआई ऐप के साथ बैंकों को भी इनएक्टिव यूपीआई नंबर को प्लेटफॉर्म से हटाना होगा। आइए जानते है कौन से नंबर  हो सकते है बंद और क्यों?

यह भी पढ़ें 👉  पिथौरागढ़ के बॉबी ने प्रदेश का नाम किया रोशन, भारतीय हॉकी टीम में हुआ चयन…

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने  PhonePe और Google Pay जैसी थर्ड पार्टी ऐप्स और बैंकों से कहा है कि ऐसी सभी यूपीआई आईडी बंद कर दें, जिनसे एक साल से किसी तरह का लेनदेन नहीं हुआ है। ऐसा करने से पहले यूजर्स को ईमेल या मैसेज के जरिए इसकी जानकारी देने को भी कहा गया है। एनपीसीआई ने 31 दिसंबर, 2023 तक का समय दिया है।बताया जा रहा है कि NPCI का यह फैसला यूपीआई ट्रांजैक्शन के और भी ज्याद सेफ बनाना है। इस कदम से कई गलत ट्रांजैक्शन पर भी रोक लग सकती है। इस निर्देश के आने के बाद अब सभी ऐप्स और बैंक एक साल से बिना लेनदेन वाले यूपीआई आईडी और उससे जुड़े मोबाइल नंबर को वैरिफाई कर उनकी आईडी बंद करेंगे।

यह भी पढ़ें 👉  धामी सरकार की रोडवेज कर्मियों को दी सौगात, बढ़ाया गया मंहगाई भत्ता…

गौरतलब है कि कई बार ऐसा होता है कि लोग अपना मोबाइल नंबर बदलते और उससे जुड़ी यूपीआईडी को बंद नहीं करते हैं। यह नंबर किसी और को मिल जाता है और यूपीआईडी वहां एक्टिवेटेड ही रहती है। ऐसे में उस नंबर पर अगर किसी ने पैसे भेजे तो वह उस इंसान को मिलेंगे जिसके पास अब वह नंबर है। बता दें, इनएक्टिव यूपीआई आईडी की मदद से पैसे रिसीव किया जा सकता है। ऐसे में अगर इन यूपीआई ऐप नंबर्स और आईडी को नेटवर्क से हटा दिया जाता है तो किसी प्रकार का कोई लेनदेन हीं हो पाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  कुमाऊं और नागा रेजिमेंट के पूर्व सैनिकों की निकली भर्ती…

Latest News -
Continue Reading
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in उत्तराखंड

उत्तराखंड

उत्तराखंड

ट्रेंडिंग खबरें

To Top