Connect with us

साइबर ठगों से रहे सावधान, यूट्यूब के नाम पर ऐसे लगा रहे लाखों की चपत, जानें…

उत्तराखंड

साइबर ठगों से रहे सावधान, यूट्यूब के नाम पर ऐसे लगा रहे लाखों की चपत, जानें…

Uttarakhand News: उत्तराखंड साइबर ठगों की पहली पसंद बन गया है। साइबर ठग नए नए तरीकों से प्रदेश की भोली भाली जनता को ठग रहे है। ठगों ने अब लोगों को ठगने का नया तरीका निकाला है। जिससे वह लाखों की चपत लग रहे है। ये तरीका है यूट्यूब का। बताया जा रहा है कि वे लोगों को वाट्सअप मैसेज करके ऐसे झांसे देते हैं कि कई लोग इनके बहकावे में आकर लाखों रुपए गंवा बैठते हैं।प्रदेश के कई लोग भी इसके झांसे में आ गए है। देहरादून के बाद अब हल्द्वानी की युवती ने लाखों रुपए गंवा दिए है।

मिली जानकारी के अनुसार हल्द्वानी की एक युवती को यूट्यूब पर वीडियो को लाइक और सब्सक्राइब कर घर बैठे पैसे कमाने का लालच युवती को महंगा पड़ गया। युवती के साथ डेढ़ लाख रुपए की ठगी का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि सावित्री कालोनी, बरेली रोड निवासी युवती ने पुलिस को बताया कि छह मई को उसके व्हाट्सएप पर वर्क फ्रॉम होम का मैसेज आया। मैसेज में यूट्यूब पर वीडियो लाइक और सब्सक्राइब करने पर अच्छी कमाई का ऑफर दिया गया। पहली बार जालसाज के भेजे लिंक पर क्लिक कर वीडियो लाइक करने पर उसे 150 रुपये मिले। इसके बाद उसे नए टास्क मिले और उसे टेलीग्राम पर जोड़ लिया गया।

यह भी पढ़ें 👉  परीक्षाफल सुधार परीक्षा में फेल हुए विद्यार्थियों के लिए अच्छी खबर, मिलेगा एक और मौका…

कभी आए पैसे कभी मिला झांसा

बताया जा रहा है कि युवती से 20 हजार रुपये जमा करा लिए गए। उसी दिन 65 हजार रुपये युवती ने और जमा कर दिए। जिसके बाद उसे बताया गया कि आप गलत तरीके से टास्क पूरा कर रहे हैं। ऐसा करने पर आपकी धनराशि नहीं मिल पाएगी। अगला टास्क पूरा करने पर ही पैसा कमीशन के साथ मिलेगा इस बीच युवती के पास फिर से लगाए हुए पैसे का कमीशन आ गय। 1.70 लाख रुपये जमा करा दिए।

यह भी पढ़ें 👉  नवंबर महीने में कई बड़े त्योहार, इतने दिन बैंक रहेंगे बंद…

ऐसे करते है ठगी

साइबर ठग पहले लोगों को यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब और लाइक करने पर प्रतिदिन चार हजार रूपए कमाने का लालच देकर झांसे में ले लेते हैं। इसके लिए व्हाट्सएप पर लिंक भेजते हैं। विदेशी नंबर से व्हाट्सएप नंबर एकाउंट बनाया जाता है। जिसके जरिए मैसेज भेजे जाते हैं। मैसेज में नौकरी का झांसा होता है।इसके बाद यूट्यूब वीडियो का लिंक भेजकर इसे लाइक करने ओर फिर इसका स्क्रीनशॉट भेजने को कहते हैं। इसके एवज में 150 रुपए देने की बात की जाती है।

बताया जा रहा है कि इस पूरी प्रक्रिया में व्यक्ति का बैंक खाता नंबर, आईएफएससी कोड लिया जाता है। इसके ​बाद लिंक को टेलीग्राम एप पर ले जाकर वीडियो को लाइक और सब्सक्राइव करने का टास्क देकर ठगा जा रहा है। ये गिरोह देशभर में लोगों को ठग रहा है। लोगों को ऐसे मामलों में सावधानी बरतने की अपील की गई है।

यह भी पढ़ें 👉  नंदा गौरा योजना के लिए अब 20 दिसंबर तक कर सकते हैं आवेदन, जानें प्रोसेस…

बरते ये सावधानी

  • किसी भी निवेश योजना की पेशकश करने वाले सोशल मीडिया पर किसी भी रेंडम नंबर को रिपोर्ट और ब्लॉक कर दें।
  • किसी भी व्यक्ति के साथ अपने लेनदेन का इंटरनेट गतिविधि के स्क्रीनशॉट साझा न करें।
  • प्रोजेक्ट मैनेजर, टीचर या ट्रेनर के साथ किसी भी निवेश घोटाले से सावधान रहें।
  • इंटरनेट कॉल के आधार पर किसी भी योजना में निवेश न करें।
  • हमेशा फिजिकल वेरिफिकेशन से कंपनी योजना का सत्यापन करें और अपराधियों की ओर से भेजे गए स्क्रीन शॉट पर भरोसा न करें।

Latest News -
Continue Reading
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in उत्तराखंड

उत्तराखंड

उत्तराखंड

ट्रेंडिंग खबरें

To Top