Connect with us

रेडकैप 5जी तकनीक का एयरटेल ने किया सफलतापूर्वक परीक्षण, भारत में ऐसा हुआ पहली बार…

उत्तराखंड

रेडकैप 5जी तकनीक का एयरटेल ने किया सफलतापूर्वक परीक्षण, भारत में ऐसा हुआ पहली बार…

देहरादून। भारत के प्रमुख कम्युनिकेशन सॉल्यूशन प्रोवाइडर भारती एयरटेल (एयरटेल) और एरिक्सन (NASDAQ: ERIC) ने आज एयरटेल 5जी नेटवर्क पर एरिक्सन के प्री-कमर्शियल रिड्यूस्ड कैपेबिलिटी (रेडकैप) सॉफ्टवेयर के सफलतापूर्वक परीक्षण किए जाने की घोषणा की है। क्वालकॉम टेक्नोलॉजीज, इंक. के साथ इसके 5जी रेडकैप टेस्ट मॉड्यूल का उपयोग करके 5जी टीडीडी नेटवर्क पर किया गया परीक्षण भारत में रेडकैप के पहले कार्यान्वयन और सत्यापन की पुष्टि करता है।

एरिक्सन रेडकैप एक नया रेडियो एक्सेस नेटवर्क (आरएएन) सॉफ़्टवेयर सॉल्यूशन है जो नए 5जी उपयोग के मामलों को सक्षम बनाता है। यह स्मार्टवॉच, अन्य पहनने योग्य उपकरणों, औद्योगिक सेंसर और एआर/वीआर जैसे उपकरणों को 5जी कनेक्शन से जोड़ा जा सकता है।

रेडकैप 5जी तकनीक के अगले चरण का विकास है जो उन उपयोग के मामलों को पूरा करने के लिए है जो अभी तक वर्तमान न्यू रेडियो (एनआर) विनिर्देशों द्वारा प्रभावी रूप से पूरा नहीं किया जा सकता है। एलटीई डिवाइस श्रेणी 4 की तुलना में, रेडकैप बेहतर लेटेंसी, डिवाइस ऊर्जा दक्षता और स्पेक्ट्रम दक्षता के साथ समान डेटा दरें प्रदान करता है। इसमें एन्हांस्ड पोजिशनिंग और नेटवर्क स्लाइसिंग जैसी 5जी एनआर सुविधाओं को सपोर्ट करने की क्षमता भी है।

यह भी पढ़ें 👉  पौड़ीः चौकी इंचार्ज सहित आधा दर्जन पुलिसकर्मियों पर गिरी गाज, जानें मामला…

परीक्षण पर टिप्पणी करते हुए, भारती एयरटेल के सीटीओ रणदीप सेखों कहते हैं, “एयरटेल में हम ग्राहक अनुभव को बढ़ाने के तरीके खोजने के लिए लगातार अपनी तकनीकी नवाचारों की सीमाओं को आगे बढ़ा रहे हैं। हमारे नेटवर्क पर रेडकैप तकनीक के सफल परीक्षण से स्मार्टवॉच और औद्योगिक सेंसर जैसे उपकरणों के लिए भविष्य के IoT ब्रॉडबैंड को अपनाना आसान हो जाएगा। यह लागत और ऊर्जा की खपत दोनों में कमी लाएगा। रेडकैप की व्यपाक योजना, उपभोक्ताओं, उद्योगों और उद्यमों के लिए नए एप्लीकेशन लाने के लिए हमारे इनोवेशन के एजेंडे को आगे बढ़ाएगी।”

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंडः आचार संहिता की उड़ाई धज्जियां, अब BJP विधायक सहित 150 लोगों पर मुकदमा दर्ज…

संदीप हिंगोरानी, हेड ऑफ नेटवर्क सॉल्यूशंस फॉर  कस्टमर यूनिट भर्ती एट एरिक्सन ने कहा, “एयरटेल जैसे हमारे ग्राहक 5जी द्वारा प्रदान किए जाने वाले अवसरों को प्राप्त करने के लिए नेटवर्क क्षमताओं में लगातार निवेश कर रहे हैं, रेडकैप क्षमताओं का व्यावसायीकरण उन्हें अपने उपभोक्ता व्यवसाय को बढ़ाने और नए उद्योग अनुप्रयोगों को सक्षम करने में मदद करेगा, साथ ही साथ एयरटेल के नेटवर्क प्रदर्शन और ऊर्जा दक्षता को बेहतर बनाएगा।”

एरिक्सन रेडकैप संचार सेवा प्रदाताओं के लिए संभावनाओं की नई दुनिया के द्वार खोल देगी, जिससे 5जी स्टैंडअलोन आर्किटेक्चर पर बढ़ी हुई मोबाइल ब्रॉडबैंड (ईएमबीबी) से आगे बढ़ते हुए सेवाओं की शुरूआत की क्षमता प्राप्त हो जाएगी। इसका उद्देश्य इकोसिस्टम को व्यापक बनाना और उपभोक्ता और औद्योगिक दोनों क्षेत्रों में नए मोनेटाइजेशन के अवसर प्रदान करना।

यह भी पढ़ें 👉  कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता दीपक बल्यूटिया ने पार्टी से दिया इस्तीफा…

रेडकैप एक ऐसी तकनीक है जो वर्तमान 5G तकनीक की उच्च-प्रदर्शन क्षमताओं की हमेशा आवश्यकता न पड़ने वाले विभिन्न उपयोग मामलों को सुविधाजनक बनाती है। यह डिवाइस प्लेटफॉर्म की जटिलता, आकार और क्षमताओं को प्रभावी ढंग से कम कर सकता है ताकि स्मार्टवॉच और औद्योगिक सेंसर जैसे उपकरणों में लागत-कुशल एकीकरण प्रदान किया जा सके। रेडकैप से लाभान्वित होने वाले कुछ कस्टमर एप्लीकेशन में वियरेबल्स और ऑग्यूमेंटेड रैली/वर्चुअल रियलिटी शामिल हैं। इंडस्ट्रियल एप्लीकेशन में वीडियो मॉनिटरिंग और इन्वेंट्री मैनेजमेंट शामिल हैं। भारती एयरटेल के लिए, रेडकैप अनुकूलित लागत संरचनाओं के साथ परिचालन क्षमता में भी सुधार कर सकता है, जो 5जी निजी नेटवर्क के साथ उद्योग 4.0 परिवर्तन को तेजी प्रदान करेगा।

Latest News -
Continue Reading
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in उत्तराखंड

उत्तराखंड

उत्तराखंड

ट्रेंडिंग खबरें

To Top