Connect with us

साल 2024 का पहला चंद्र ग्रहण और सूर्यग्रहण लगेगा इस दिन, जानें समय…

उत्तराखंड

साल 2024 का पहला चंद्र ग्रहण और सूर्यग्रहण लगेगा इस दिन, जानें समय…

ग्रहण का धार्मिक और वैज्ञानिक दृष्टिकोण ने अलग महत्व होता है। वैज्ञानिक दृष्टिकोण से देखा जाए तो ग्रहण लगना एक सामान्य सी भौगोलिक घटना है, जबकि ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इसे अशुभ माना जाता है। चंद्र ग्रहण हमेशा पूर्णिमा के दिन लगता है और सूर्य ग्रहण हमेशा अमावस्‍या के दिन लगता है। साल 2024 का पहला चंद्र ग्रहण होली के दिन लगने जा रहा है। वहीं पहला सूर्य ग्रहण इसके 15 दिनों बाद अप्रैल के महीने में लगेगा। आइए आपको बताते हैं चंद्र ग्रहण और सूर्य ग्रहण से जुड़ी जरूरी जानकारी…

मिली जानकारी के अनुसार 24 मार्च को होलिका दहन होगा और अगले दिन रंगों की होली खेली जाएगी।पूर्णिमा तिथि 24 मार्च को सुबह 09:55 मिनट से शुरू होगी और अगले दिन 25 मार्च दोपहर 12:29 बजे तक रहेगी। चंद्र ग्रहण इसी दिन यानी 25 मार्च को लगेगा। वहीं चैत्र अमावस्या 8 अप्रैल को सुबह 03:21 मिनट पर शुरू होगी और 8 अप्रैल की रात को 11:50 मिनट पर समाप्त होगी। सूर्य ग्रहण भी 8 अप्रैल को अमावस्‍या के दिन ही लगेगा। चंद्र ग्रहण से 9 घंटे पहले और सूर्य ग्रहण से करीब 12 घंटे पहले सूतक काल लग जाता है। लेकिन इस बार का चंद्र ग्रहण और सूर्य ग्रहण, दोनों ही भारत में नजर नहीं आएंगे। ऐसे में सूतक के नियम भी भारत में लागू नहीं होंगे।

यह भी पढ़ें 👉  मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने अधिकारियों को दिए ये निर्देश, ड्राई रन होगा शुरू…

25 मार्च को लगने वाला चंद्र ग्रहण उपच्छाया चंद्रग्रहण होगा. जब चंद्रमा पृथ्‍वी की उपच्‍छाया (पेनुमब्रा) में प्रवेश करके वहीं से बाहर निकल आता है तो इसे उपच्‍छाया चंद्र ग्रहण कहते हैं.  ये चंद्र ग्रहण सुबह 10 बजकर 23 मिनट से शुरू होकर दोपहर 03 बजकर 2 मिनट तक रहेगा। बता दें कि होली और चंद्र ग्रहण का ये संयोग 100 साल बाद बन रहा है. इससे पहले होली वाले दिन चंद्र ग्रहण 1924 में लगा था।25 मार्च को लगने वाले चंद्र ग्रहण को उत्‍तर और पूर्व एशिया, यूरोप, ऑस्‍ट्रेलिया, अफ्रीका, उत्‍तरी और दक्षिणी अमेरिका, प्रशांत, अटलांटिक, आर्कटिका और अंटा‍र्कटिका के कई हिस्‍सों में दिखेगा। भारत में ये नहीं दिखेगा।

यह भी पढ़ें 👉  टिहरीः श्रमिकों के श्रम कार्ड नवीनीकरण कार्य जानें कब होगा कहां…

8 अप्रैल को लगने वाला सूर्य ग्रहण भी बेहद खास माना जा रहा है। चंद्रमा के सबसे नजदीक होने के चलते ये 50 सालों का सबसे लंबा पूर्ण सूर्य ग्रहण होगा। ये सूर्य ग्रहण करीब 7.5 मिनट तक रहेगा। इस दौरान आसमान में सूर्य नजर नहीं आएगा, सिर्फ उसका कोरोना दिखाई देगा।  ऐसे में ग्रहण के क्षेत्र में मौजूद लोग पृथ्वी के करीब मौजूद बृहस्पति और शुक्र ग्रहों के साथ धूमकेतु को भी को सीधे देख सकेंगे। साल का पहला सूर्य ग्रहण भारतीय समय के अनुसार रात में करीब 09:12 पर शुरू होगा और ग्रहण का समापन रात 01:20 पर हो जाएगा। ऐसे में इस ग्रहण को भारत में नहीं देखा जा सकेगा। वहीं सूर्य ग्रहण अमेरिका, मैक्सिको और कनाडा के कुछ इलाकों में नजर आएगा। इस सूर्य ग्रहण के दौरान लोगों को दिन में रात जैसा नजारा दिखेगा।

यह भी पढ़ें 👉  टिहरीः नारी न्याय सम्मेलन में अंकिता को न्याय दिलाने के लिए हुआ प्रदर्शन…

Latest News -
Continue Reading
Advertisement

More in उत्तराखंड

उत्तराखंड

उत्तराखंड

ट्रेंडिंग खबरें

To Top