Connect with us

नि .महापौर ऋषिकेश अनिता ममगाईं ने जगद्गुरु रामभद्राचार्य से मुलाकात कर कुशल क्षेम पूछी…

उत्तराखंड

नि .महापौर ऋषिकेश अनिता ममगाईं ने जगद्गुरु रामभद्राचार्य से मुलाकात कर कुशल क्षेम पूछी…

ऋषिकेश : देहरादून में नि .महापौर ऋषिकेश नगर निगम अनिता ममगाईं ने तुलसी पीठाधीश्वर जगद्गुरु रामभद्राचार्य से मुलाकात की और कुशल क्षेम पूछी। साथ ही मां गंगा से उनके दीर्घायु होने की कामना की। महाराज देहरादून के सिनर्जी हॉस्पिटल में वे स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। इस दौरान नि .महापौर अनिता ममगाईं ने कहा महाराज जी स्वस्थ हैं अब वे स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। उन्होंने आशीर्वाद देते हुए प्रसन्नता से कहा जल्द ऋषिकेश में भी कथा करेंगे।यह बताते हुए वे काफी प्रसन्न हुए। मां गंगा से प्रार्थना कर उनके दीर्घायु होने की प्रार्थना की। आज उनका 75वां जन्म दिवस भी है। ऐसे मौके पर उनसे मुलाकात कर हमने आशीर्वाद प्राप्त किया। नि .महापौर ने उम्मीद जताई जल्द वे स्वस्थ हो कर भक्तों के बीच लौटेंगे।

यह भी पढ़ें 👉  महंगाई की मार: गैस सिलेंडर के फिर बढ़े दाम, अब इतने का आएगा सिलेंडर…

आपको बता दें कल ही उनके प्रिय शिष्य बागेश्वर धाम आचार्य धीरेंद्र शास्त्री भी मिलने पहुंचे थे उनसे मिलने। शनिवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी भी पहुंचे थे मिलने। उनकी उत्तर प्रदेश में कथा थी इसी दौरान उनको स्वास्थ्य की दिक्कत हुई वहां से उनको आगरा ले जाया गया था वहां से एयर। एम्बुलेंस से देहरादून लाया गया था। डॉक्टर्स के मुताबिक उन्हें इंफेक्शन था लेकिन अब उनका स्वास्थ्य ठीक है।

जगद्गुरु रामभद्राचार्य के बारे में –

जगद्गुरु रामभद्राचार्य (संस्कृत: जगद्गुरुरामभद्राचार्यः) (1950–), पूर्वाश्रम नाम गिरिधर मिश्र चित्रकूट (उत्तर प्रदेश, भारत) में रहने वाले एक प्रख्यात विद्वान्, शिक्षाविद्, बहुभाषाविद्, रचनाकार, प्रवचनकार, दार्शनिक और हिन्दू धर्मगुरु हैं। वे रामानन्द सम्प्रदाय के वर्तमान चार जगद्गुरु रामानन्दाचार्यों में से एक हैं और इस पद पर 1988 ई से प्रतिष्ठित हैं। वे चित्रकूट में स्थित संत तुलसीदास के नाम पर स्थापित तुलसी पीठ नामक धार्मिक और सामाजिक सेवा संस्थान के संस्थापक और अध्यक्ष हैं। वे चित्रकूट स्थित जगद्गुरु रामभद्राचार्य विकलांग विश्वविद्यालय के संस्थापक और आजीवन कुलाधिपति हैं। यह विश्वविद्यालय केवल चतुर्विध विकलांग विद्यार्थियों को स्नातक तथा स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम और डिग्री प्रदान करता है। जगद्गुरु रामभद्राचार्य दो मास की आयु में नेत्र की ज्योति से रहित हो गए थे और तभी से प्रज्ञाचक्षु हैं। देहरादून के सिनर्जी हॉस्पिटल में वे स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। इस दौरान नि .महापौर अनिता ममगाईं ने कहा महाराज जी स्वस्थ हैं अब वे स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। उन्होंने आशीर्वाद देते हुए प्रसन्नता से कहा जल्द ऋषिकेश में भी कथा करेंगे।इससे वे काफी प्रसन्न हुए। मां गंगा से प्रार्थना कर उनके दीर्घायु होने की प्रार्थना की। आज उनका 75वां जन्म दिवस भी है। ऐसे मौके पर उनसे मुलाकात कर हमने आशीर्वाद प्राप्त किया। नि .महापौर ने उम्मीद जताई जल्द वे स्वस्थ हो कर भक्तों के बीच लौटेंगे।

यह भी पढ़ें 👉  देहरादून में कोरोना के दो मरीज, आठ साल का मासूम इस वायरस से संक्रमित, जानें लक्षण…

Latest News -
Continue Reading
Advertisement

More in उत्तराखंड

उत्तराखंड

उत्तराखंड

ट्रेंडिंग खबरें

To Top