Connect with us

नया सिम खरीदना है या आप सिम बेचने का करते हैं बिजनेस, तो पढ़ लें ये जरूरी खबर…

उत्तराखंड

नया सिम खरीदना है या आप सिम बेचने का करते हैं बिजनेस, तो पढ़ लें ये जरूरी खबर…

अगर आप आपको नया सिम खरीदना है या आप सिम बेचने का बिजनेस करते हैं तो आपके लिए काम की खबर है। बताया जा रहा है कि दूरसंचार विभाग (DoT) की तरफ से सिम कार्ड खरीदने और बेचने के नियमों में बदलाव किया गया है। ऐसे में सिम खरीदने और बेचने वालों को नए नियम के बारे में मालूम होना चाहिए। वरना नियम उल्लंघन पर आपको जुर्माने के साथ जेल जाना पड़ सकता है। आइए जानते हैं कि सिम कार्ड को लेकर कौन से नियम बदले हैं।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में वर्ष 2024 की छुट्टियों का केलैंडर जारी, ईगास सहित इन त्योहारों पर रहेगी छुट्टी…

मिली जानकारी के अनुसार केंद्र सरकार फर्जी सिम कार्ड से होने वाले फ्रॉड को रोकने के लिए सख्त हो गई है। बताया जा रहा है कि 1 जनवरी 2024 से सिम कार्ड को लेकर नियम बदल गए हैं। पहले के समय नया सिम कार्ड खरीदने के लिए ग्राहकों को केवाईसी करने की जरूरत नहीं होती थी। लेकिन अब नया सिम कार्ड लेते समय में आपको वर्चुअल केवाईसी करानी होगी। बताया जा रहा है कि पहले के समय में ये डॉक्यूमेंट्स के जरिये होता था। लेकिन अब इस प्रॉसेस को ऑनलाइन कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  वाहन चालकों के लिए काम की खबर, इन नियमों का नहीं किया पालन तो ऑनलाइन चालान के साथ निरस्त होगा लाइसेंस…

वहीं फ्रेंचाइजी, डिस्ट्रीब्यूटर, प्वाइंट ऑफ सेल एजेंट्स, सभी को को अपना रजिस्ट्रेशन करवाना ही पड़ेगा और ऐसा ना करने पर वो बिक्री नहीं कर पाएंगे। बताया जा रहा है कि रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी करवाने के लिए टेलीकॉम डीलर्स और एजेंट्स के पास एक साल तक का समय होगा, इसी समय में उन्हें रजिस्ट्रेशन का प्रोसेस पूरा कर लेना पड़ेगा।  सरकार ने सिम कार्ड खरीदने और बेचने वालों को एक साथ ज्यादा सिम लेने को प्रतिबंधित कर दिया है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखण्ड जनजातीय महोत्सव सहित सीएम धामी ने की ये बड़ी घोषणाएं…

मतलब यूजर्स एक साथ कई सिम कार्ड इश्यू नहीं करा पाएंगे। साथ ही एक आईडी पर एक सिमित संख्या में सिम कार्ड इश्यू किए जाएंगे। इन सभी नियमों के उल्लंघन पर 10 लाख रुपये जुर्माना लगाया जा सकता है। साथ ही जेल तक जाना पड़ सकता है। हालांकि अब भी यूजर्स एक आईडी 9 सिम कार्ड खरीद सकते हैं। इन नियमों को 1 अक्टूबर 2023 से लागू होना था, लेकिन सरकार की तरफ से  अतिरिक्त समय दिया गया था।

Latest News -
Continue Reading
Advertisement

More in उत्तराखंड

उत्तराखंड

उत्तराखंड

ट्रेंडिंग खबरें

To Top